Latest Updates

Shayari    ||     Others Shayari

माँ तेरी याद सताती है, मेरे पास आ जाओ, थक गई हुँ,

माँ तेरी याद सताती है, मेरे पास आ जाओ,
थक गई हुँ, मुझे अपने आँचल में सुलालो....
उँगलीयाँ अपनी फेर कर बालों मे मेरे,
एक बार फिर से बचपन की लोरीयाँ सुनाओ

---------------------------------------------------------

पलकों में आँसु और दिल में दर्द सोया है,

हँसने वालो को क्या पता, रोने वाला किस कदर रोया है,
ये तो बस वही जान सकता है मेरी तनहाई का आलम,
जिसने जिन्दगी में किसी को पाने से पहले खोया है..!!

-------------------------------------------------------------

ख़ुद का तकिया ख़ुद की चादर और दरी

इन सबसे है मेरी बगिया हरी - भरी
ये भी सच है इस दुनिया में लोगों का
पेट भरा है लेकिन नीयत नहीं भरी
खोटे लोगों को इसलिए अखरता हूँ
बात हमेशा कहता हूँ मैं खरी -खरी
बिल्कुल मेरी बिटिया जैसी लगती थी
कल जो सपने में आयी थी एक परी

---------------------------------------------------

कुछ रिश्ते अंजाने में ही हो जाते है,

पहले दिल फिर जिन्दगी से जुड़ जाते है,
कहते है उस दौर को प्यार...
जिसमें लोग जिन्दगी से भी प्यारे हो जाते है.

---------------------------------------------------

इतनी आसानी से कैसे भुल जाता है कोई,

रह-रह कर क्यों याद आता है कोई,
उमर भर याद करता रहेंगे आपको,
देखते है कब तक हमें भुलाता है कोई

--------------------------------------------------

फुल हो तुम मुरझाना नहीं

साथ छोड़ के कभी दूर जाना नहीं
जब तक हम जिन्दा है ऐ दोस्त
कभी किसी से घबराना नहीं

-------------------------------------------------

खिड़की से झांकता हूँ मै सबसे नज़र बचा कर

बेचैन हो रहा हूँ क्यों घर की छत पे आ कर
क्या ढूँढता हूँ जाने क्या चीज खो गई है
इन्सान हूँ शायद मोहब्बत हमको भी हो गई

 

Shayari    ||     Others Shayari

कभी ठंड में ठिठुर के देख लेना, कभी तपती धूप में जल के देख लेना

कभी ठंड में ठिठुर के देख लेना
कभी तपती धूप में जल के देख लेना
कैसे होती है हिफाज़त मुल्क की
कभी सरहद पर चल के देख लेना
कभी दिल को पत्थर करके देख लेना
कभी अपने जज्बातों को मार के देख लेना
कैसे याद करते है मुझे मेरे अपने
कभी अपनों से दूर रहकर देख लेना
कभी वतन के लिए सोच के देख लेना
...कभी माँ के चरण चूम के देख.

-----------------------------------------------------------

सिर्फ इशारों में होती महोब्बत अगर,

इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता?
बस पत्थर बन के रह जाता “ताज महल”
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता

---------------------------------------------------------------

कसूर ना उनका है ना मेरा,

हम दोनो रिश्तों की रसमें निभाते रहे,
वो दोस्ती का ऐहसास जताते रहे,
हम महोब्बत को दिल में छुपाते रहे

-----------------------------------------------------------

इश्क है मेरा , कोई दगा नहीं

इस तरहा से दिल मेरा, कभी लगा नहीं
लिखी थी कवितायेँ ,
संजोये थे कई सपने
मिलेगी कोई शह्जादी ख्वाबों की
सुनाता जिसे अरमान अपने
मुद्दतों से तलाश में हूँ मगर,
इस तरह से अपना कोई लगा नहीं
इश्क है मेरा , कोई दगा नहीं
इस तरहा से दिल मेरा, कभी लगा नहीं

-----------------------------------------------------

दोस्तों की कमी को पहचानते है हम,

दुनियाँ के गमों को भी जानते है हम,
आप जैसे दोस्तों के ही सहारे..
आज भी हँस कर जीना जानते है हम

-------------------------------------------------------

तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है;

एक बात को सबसे छुपाना इश्क है;
यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर;
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है!

-----------------------------------------------------------

मैं प्यार भी दूंगी, दुलार भी दूंगी,

सार भी दूंगी, ये संसार भी दूंगी,
मुसीबत के समय
देश के लिये जिंदगी वार भी दूंगी,
इसलिए मत मारो मुझे|

मैं इज्जत भी दूंगी, जन्नत भी दूंगी,
सोहरत भी दूंगी, ताकत भी दूंगी,
मोका मिला तो
हर सपना हकीकत कर दूंगी,
इसलिए मत मारो मुझे|

पढूंगी, लिखूंगी अफसर बन जाऊँगी,
पर तुम्हारे सामने सदा शीश झुकाऊँगी 
और समय आने पर
घर को स्वर्ग बनाउंगी,
इसलिए मत मारो मुझे|

अगर किसी कारणवस रह गई अनपढ़,
तो भी घर का सारा काम करवाउंगी,
गिनकर रात के तारों को,
तुमको अच्छी नींद सुलाऊँगी,
इसलिए मत मारो मुझे अपनी कोख से|

 

Shayari    ||     Others Shayari

Dil main har raaaz dabaa key rakhtay hein

Waqt kee aandhee main tufaan badal jatay hain,
Zindagi ki raahon main INSAAN badal jatay hain,
Badaltaa nahi PYAAR kabhi,
Pyaar karnay wale INSAAN badal jatay hain
 
-------------------------------------------------------------------
Milnaa ittafaaq thaa bichernaa naseeb thaa,
Woh itnaa door ho gayaa jitnaa Kareeb thaa,
Bastee key saaray log hi aatish parrast they,
Jaltaa rahaa mera gher aur samander Kareeb thaa
--------------------------------------------------------------------------------
 
Kabhi usko Hamari yadon ne staya hoga.
Ñam Üska likha Änkho me Änsuo ne Mitaya hoga.
Ghum ye Ñhi k Wo ßhÖl gaye hoge Humko.
Ghum ye hai k ßohat RoRo k ßhulaya hoga.
-------------------------------------------------------------------
Kabhi na aya woh mere saath chal k.
Hamesha gaya mujy naraz kar k.
Mout par meri agar woh aya to keh dena k.
Abhi abhi soya hai tumhy yaad kar k.
-------------------------------------------------------------------------------
 
Dil main har raaaz dabaa key rakhtay hein
Honton pay Muskaan sajaa key rakhtay hein..
ye duneeya sirff Khushee mein saath daytee hai..
iss liye hum apnay aansoo chupaaa kay rakhtey hein

 

Shayari    ||     Others Shayari

शायरी – दुनिया में तेरा हुस्न मेरी जां सलामत रहे

दुनिया में तेरा हुस्न मेरी जां सलामत रहे
सदियों तलक जमीं पे तेरी कयामत रहे
 
और भी दुनिया में आएंगे आशिक कितने
उनकी आंखों में तुमको देखने की चाहत रहे
 
इश्क के तमाशे में हमेशा तेरे किरदार से
दर्द और खामोशी के अश्कों की शिकायत रहे
 
खुमारियों के चंद लम्हों का है तेरा सुरूर
उसमें डूबकर मरने से दिल को राहत रहे
 
------------------------------------------------------------------------------
न जीतने की जिद ही थी, न हारने का सवाल था
मुझे जिंदगी में हर कदम पर मौत का खयाल था
 
किसको कहूं और क्या कहूं, फिर सोचता हूं क्यूं कहूं
यहां दोस्त हैं कई मगर, हमराज का अकाल था
 
खुलते गए मेरे सामने दरवाजों में लगे आईऩे
देखा कि उस मकान में हर अक्स बदहाल था
 
आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें
वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था
------------------------------------------------------------------------
 
इतनी बेचैनी से तुमको किसकी तलाश है
वो कौन है जो तेरी आंखों की प्यास है
 
जबसे मिला हूं तुमसे यही सोचता हूं मैं
क्यों मेरे दिल को हो रहा तेरा एहसास है
 
जिंदगी के इस मोड़ पे तुम आके यूं मिले
जैसे कि कोई मंजिल मेरे इतने पास है
 
एक नजर की आस में तकता हूं मैं तुझे
अब देख तेरे खातिर एक आशिक उदास है
 
------------------------------------------------------------------------------------
 
जहां भी देखा गम का साया
तू ही तू मुझको याद आया
 
ख्वाबों की कलियां जब टूटी
ये गुलशन लगने लगा पराया
 
दरिया जब-जब दिल से निकला
एक समंदर आंखों में समाया
 
मेरे दामन में कुछ तो देते
यूं तो कुछ नहीं मांगा खुदाया
-----------------------------------------------------------------
जिंदगी का कोई ख्वाब पूरा नहीं होता
होता अगर तो शख्स अधूरा नहीं होता
 
ख्वाहिशों की प्यास कभी बुझ नहीं पाती
कभी रेतों में समंदर का बसेरा नहीं होता
 
आंखों में जल रही है जबसे तेरी शमा
मेरे रूह की गलियों में अंधेरा नहीं होता
 
अश्कों से भीगो देता है हर रात जमीं को
आसमा रोता ही रहता जो सबेरा नहीं होता
 

Shayari    ||     Others Shayari

Bewafaii Bhulaane Ke Liye Pite Hai Baaz Zaroorat Ke Liye Peete Hai

Bewafaii Bhulaane Ke Liye Pite Hai Baaz Zaroorat Ke Liye Peete Hai<br /> Haqikat Main Jo Hai Hum Jaise Peene Wale Wo Mohabbat Main Aakar Peete Hain 

-------------------------------------------------------------------------

Roz Ashqo Ke Phasane Nikle Maikhane Se Sharaab Ke Deewane Nikle Jo Dil Ka Haal Samajh Na Paya Kyon Usko Ham Zakhm Dikhane Nikle

------------------------------------------------------------------------

Jaam Jo Bhara Sharab Se,Teri Tasveer Nazar Aayi Todi Jo Bottol, Tukdon Mian Tasveer Nazar Aayi Jab Jodne Lage Hum Un Tukdo Ko Nashe Main Mere Khooon Se Bahri, Teri Maang Mujhe Nazar Aayi

-------------------------------------------------------------------------

Charo Taraf Khamoshi Ka Saaya Hai Zindagi Mein Pyar Kisne Paaya Hai Hum Tho Yaadon Mein Jhoomte Hai Unki Aur Log Kehta Hai Dekho Aaj Phir Peeke Ayaa Hai

------------------------------------------------------------------------

Bharosa Ho Agar To Aap Uska Intezar Kiya Karo Har Dard Ko Seh Lo Uske Liye Tum Uske Sb Dukh-Dard Tum Liya Karo Ankho Me Aansoon Na Laana Gam Me Gam Ko Bhulane Ke Liye Tum Bhi Sharaab Piya Karo

-------------------------------------------------------------------------

Dard Ka Nasha Itana Hai,Ki Sharab Beasar Hai Maikhane Ke To Dayre Hai,Magar Gum Ka Jam To Ghar-Gahr Hai

---------------------------------------------------------------------------

Wo Har Shaam Nasa-E-Sharab Main Madhhosh Rahate Hai Or Ham Ban Kar Pyala-E-Jam Unko Kahate Hai Ham Bhi Kisi Nashe Se Kam Nahi Hai B-Sharte Log Hame Gar Bardasht Kar Paye

----------------------------------------------------------------------------

Maikhane Mein Baithe Hai Peene,Ek Jaam Tere Naam Ka Teri Yaad Mein Jo Pee Lege,To Phir Hisaab He Na Raha Shaam Ka

----------------------------------------------------------------------------

Majnoo Ko Laila Ne Nakam Kar Diya Sharabi Ko Sharab Ne Badnam Kar Diya Isq Ho Ya Sharab, Dono Ka Asar Dekh Lo Majnoo Aur Sharabi Ka, Eksa Anjaam Kar Diya

----------------------------------------------------------------------------

Akhiyon Se Pee Raha Hoon Main Maikhano Main Jii Rha Hoon Mausam Badal Na Jaaye,Giraao Na Tum Palke Kahin Meri Zindege Ki Shaam Na Ho Jaaye

-------------------------------------------------------------------------

Sharab Jissm Ko Khatam Karti Hai Sharab Samaj Ko Khatam Karti Hai Aao Aaj Is Sharab Ko Khatam Karte Hai Ek Botal Tum Khatam Karo Ek Hum Khatam Karte Ha

-----------------------------------------------------------------------

Dil Mein Ek Dard Liye Jiye Ja Raha Hoon Teri Mohabbat Ka Jaam Piye Ja Rahan Hoon Na Chahte Huye Bhi Ye Kaam Kiye Jaa Raha Hoon Na Jane Khud Ko Kaun Si Manzil Par Liye Ja Raha Hoon

----------------------------------------------------------------------

Hothon Pe Aaj Unka Naam Aa Gaya Pyase Ke Hath Jaise Jaam Aa Gaya Dhole Kadam To Gire Unki Baho Main Ja Kar Aaj Hamara Peena Hi Hamare Kamm Aa Gaya

----------------------------------------------------------------------